SEO Friendly Blog Post Kaise Likhe

अपने Blog/Website के लिए SEO Friendly Blog Post कैसे लिखे?? (Beginners To Advanced Guide In Hindi)

तो आपने अभी अपना ब्लॉग बना लिया है और अभी आप अपने ब्लॉग के आर्टिकल को सर्च इंजन में अच्छी पोजिशन पर रैंक करवाना चाहते हैं?

सर्च इंजन में अपने आर्टिकल को अच्छी पोजीशन पर रैंक करवाने के लिए सबसे जरूरी होता है SEO Friendly Content

यदि आप अपने ब्लॉग में SEO Friendly Article लिखते है तो बड़ी आसानी से सर्च इंजन में अपने आर्टिकल आर्टिकल को रैंक करवा सकते हैं और अच्छा ट्राफिक पा सकते हैं।

लेकिन एक अच्छा SEO Friendly Blog Post कैसे लिखे और हर blogger के लिए SEO Friendly Blog Post लिखना क्यों जरुरी है?

यदि आपके मन में भी यह सवाल है तो आज आप सही जगह पर आए हैं। इस आर्टिकल में आपको SEO Friendly Blog Post कैसे लिखे और SEO Optimised Blog Post लिखना क्यों जरुरी है? जैसे सभी सवालों के जवाब मिलेंगे…

तो आइए जानते है की SEO Friendly Article होता क्या है?

SEO Friendly Blog Post क्या है?

SEO Friendly Article का मतलब होता है की आपको ऐसा कंटेंट बनाना है जो आपके यूजर को query का सही से valuable information दे सके।

आपका यूजर जो जानकारी जानने के लिए सर्च इंजन की मदद से आपके ब्लॉग पर आया है तो उसे उसका सही जवाब मिल सके। तो आपको अपने कंटेंट को यूजर और सर्च इंजन दोनो के लिए बनाना है।

ताकि सर्च इंजन आपके कंटेंट को समझ सके और user की Query के according आपके आर्टिकल को उनके सामने show कर सके।

इसको हम SEO Friendly Content या Blog Post कह सकते है।

अपने ब्लॉग के लिए SEO FRIENDLY BLOG POST कैसे लिखे लेकिन इससे पहले जानते है की हमे अपने कंटेंट को SEO Friendly क्यों बनाना चाहिए?

SEO Optimised Blog Post लिखना क्यों जरुरी है?

दोस्तो एक आर्टिकल और SEO Friendly Article में बहुत बड़ा अंतर है। जब मैंने अपने ब्लॉगिंग करियर की शुरुआत की थी तो शुरुआत में मुझे भी SEO के बारे में या उससे जुड़ी जानकारी नही थी।

में सिर्फ कंटेंट लिखता जा रहा था लेकिन बदले में मुझे क्या मिलता था?

कुछ नही!

शुरुआत में मैं सिर्फ गूगल से ट्रैफिक के लिए ही कंटेंट लिख रहा था। लेकिन बदले में मुझे रिजल्ट मिला ZERO

जब मैं अपने आर्टिकल को सोशल मीडिया पर शेयर करता था तभी ट्राफिक आता था लेकिन गूगल से कोई ट्रैफिक नहीं आ रहा था।

बाद में गूगल पर थोड़ा बहुत रिसर्च किया और यही से मुझे SEO FRIENDLY CONTENT के बारे में पता चला, की यदि मुझे अपने आर्टिकल को सर्च इंजन में रैंक करवाना है तो मुझे अपने seo friendly article लिखने होगे!

जब आप SEO Friendly Article लिख रहे है तो गूगल को आप अपने कंटेंट, अपने टॉपिक के बारे में बता रहे है।

इसकी मदद से आपके कंटेंट को समझने में भी गूगल को आसानी होगी, और आपका कंटेंट भी सर्च इंजन में रैंक होने लगेगा।

जब आपका कंटेंट सर्च इंजन में रैंक होने लगेगा तो ट्रैफिक भी बढ़ेगा। जब ट्रैफिक बढ़ता है तो आप जानते है की क्या फायदा होता है!

SEO FRIENDLY BLOG POST कैसे लिखे?

SEO Friendly Blog Post Kaise Likhe
SEO Friendly Blog Post Kaise Likhe

दोस्त नीचे मैने अपने कुछ Experience Share किया है की मैं अपने ब्लॉग के लिए SEO Friendly Blog Post कैसे लिखता हू? मैने अपने तरीके के बारे में बताया है, यदि आपको यह अच्छा लगता है तो आप इन टिप्स को फॉलो कर सकते हैं…

(1). सबसे पहले Research करे

बिना Research के बनाया हुआ कंटेंट यानी की अंधेरे में तीर चलाने जैसा है…

जब भी आप कोई ब्लॉग पोस्ट, आर्टिकल लिखे तो सबसे पहले अपने टॉपिक के बारे में थोड़ा बहुत रिसर्च करे जैसे की आपको टारगेट ऑडियंस कौन है?, किस टाइप के आर्टिकल रैंक है?, किस टाइप के आर्टिकल पढ़ना पसंद करते है? इत्यादि जैसी जानकारी आपको research से ही पता चलेगी।

इस रिसर्च के लिए आप SEMRUSH का Topic Research Tool का इस्तेमाल कर सकते हैं। इस टूल की मदद से आप बड़ी आसानी से अपने ऑडियंस के इंटरेस्ट, उनसे रिलेटेड टॉपिक, इस इंटरेस्ट से जुड़े आर्टिकल के टाइटल और उससे जुड़े सवाल जान सकते है।

जो आपको एक अच्छा SEO Friendly Blog Post तैयार करने में आपको मदद करता है। इसके अलावा आप दूसरे टूल की भी मदद ले सकते है।

जब भी आप नया कंटेंट बनाए तो सबसे पहले एक research जरूर करे।

(2). Search Intent को जरूर पहचाने

जब भी यूजर गूगल में कुछ सर्च करता है तो उसके पीछे उनका कुछ Intent जरूर होता है। Search Intent का मतलब ही यही है की आपका यूजर क्या चाहता है?

पिछले कई समय से गूगल भी इस चीज को बहुत ही importance दे रहा है। तो जब भी आप कंटेंट बनाए तो अपने यूजर के Search Intent को जरूर पहचाने और उसी के according कंटेंट बनाए।

(3). Keyword Research कीजिए

एक अच्छा कंटेंट बनाने के लिए Keyword Research भी सबसे जरूरी चीज में से एक है। लेकिन Keyword होता क्या है?

Keyword एक शब्द ही होता है या query होती है जिसे हम गूगल सर्च इंजन में सर्च करते है। जैसे की आप गूगल में सर्च करते है की “SEO Friendly Blog Post कैसे लिखे?” तो यह एक कीवर्ड हो गया।

तो अब आप कीवर्ड रिसर्च कैसे करेगे? कीवर्ड रिसर्च के लिए आप टूल का उपयोग कर सकते हैं जैसे SEMRUSH, Ahref जैसे प्रीमियम कीवर्ड रिसर्च टूल है। इसके अलावा आप Google Keyword Planner & Ubersuggest जैसे फ्री कीवर्ड रिसर्च टूल का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

कीवर्ड रिसर्च के दौरान आपको ऐसे कीवर्ड choose करना चाहिए जिसमे Search Volume High हो और Competition Low हो। ताकि आप आसानी से अपने कीवर्ड को रैंक करवा सके। जिसे हम Long Tail Keyword कहते है।

(4). Headline को अच्छा बनाए

आपके आर्टिकल का सबसे Important Part में से एक है Title आपका Headline

जब भी यूजर आपके कंटेंट से Interect होता है तो वो सब पहले आपके टाइटल को पढ़ता है। जब आपका टाइटल अच्छा attractive होगा तो ही वो आगे पढ़ेगा।

ऐसे ही जब आपका आर्टिकल गूगल में यूजर के सामने आपके आर्टिकल को रखेगा तो सबसे पहले आपका Title ही उसे दिखाई देगा।

ऐसे में टाइटल अच्छा होगा तो वो पढ़ने के लिए इस पर क्लिक करेगा और इससे आपका CTR भी बढ़ेगा।

इसके अलावा सर्च इंजन के क्रॉलर आपके आर्टिकल को क्रॉल करते है तो वे सबसे पहले आपके टाइटल को ही क्रॉल करते है।

इसके अलावा आपके टाइटल में अपने टारगेट कीवर्ड को भी जरूर शामिल करे ताकि यूजर और क्रॉलर आपके कंटेंट को अच्छे से समझ सके।

जैसे इस आर्टिकल का टाइटल मैने रखा है की, “अपने Blog/Website के लिए SEO Friendly Blog Post कैसे लिखे? (Beginners To Advanced Guide In Hindi)”

इसमें मेरा कीवर्ड भी शामिल है,”SEO Friendly Blog Post कैसे लिखे?”

तो अपने टाइटल टैग को अच्छे से ऑप्टिमाइज्ड करे और इसमें अपने टारगेट कीवर्ड को भी जरूर शामिल करें।

(5). अपने Meta Description को Optimize करे

पेज टाइटल के बाद आपके ब्लॉग का Meta Description है जो गूगल सर्च रिजल्ट में दिखाई देता है। Meta Description में आप अपने कंटेंट के बारे में छोटी सी जानकारी दे सकते है, अपने यूजर को बता सकते है ताकि वे आपके कंटेंट को सर्च रिजल्ट में समझ सके और आपके आर्टिकल को पढ़ने के लिए क्लिक करे।

जी हा,

आप अपने Meta Description को 1-2 sentences (140-160 characters) में बनाना होता है।

जिसमे आप अपने relevent keyword को अच्छे से include कर सके। लेकिन इसमें आपको keyword stuffing नही करना है।

(6). अपने Paragraph को छोटे रखे

जब भी आप कंटेंट लिखे तो कोशिश कीजिए की अपने Paragraph को छोटे रख सके। ताकि यूजर आसानी से पढ़ पाए।

आप सोचिए,

एक तरफ आपको एक बड़ा सा paragraph दिया है 8 से 9 लाइन का

दूसरी ओर आपको छोटे छोटे paragraph दिए है 2 से 3 लाइन के

तो किस आर्टिकल को आप ज्यादा देर तक पढ़ेंगे?

Obviously आप छोटे छोटे paragraph पढ़ना ही पसंद करेगे!

एक रिसर्च में भी पाया गया कि यूजर लंबे और बड़े paragraph के बजाय छोटे छोटे paragraph पढ़ना पसंद करते है।

उनका रीडिंग टाइम भी बढ़ता है।

तो जब भी आप कंटेंट लिखे तो कोशिश जरूर कीजिए की  Small Paragraph का इस्तेमाल करे।

(6). Heading & Subheadings का इस्तेमाल करे

अपने आर्टिकल में Heading & Subheadings का इस्तेमाल करने से आपका आर्टिकल well structured दिखाई देता है।

यूजर को आसानी से समझ आता है की इस इस सेक्शन में क्या जानकारी मिलेगी!

अपने आर्टिकल में Heading & Subheadings (H2 to H6) का सही से इस्तेमाल करना, इसमें कीवर्ड का सही से इस्तेमाल करना, यह एक SEO की प्रैक्टिस ही है।

लेकिन आपको अपने Heading & Subheadings में कीवर्ड स्टफिंग नही करना है। इसे आपको Naturally  शामिल करना है। जहां शामिल हो सकते है वही पर शामिल कीजिए।

यदि आप Stuffing करेगे तो आप अपने आर्टिकल की क्वालिटी को बिगाड़ के रख देगे और यूजर भी Bore 😴 होने लगेगा।

(7). Image Alt Tag का इस्तेमाल करे

दोस्तो आपको अपने आर्टिकल में इमेज का इस्तेमाल जरूर करना चाहिए। ताकि आप अपने आर्टिकल को अच्छा हाई क्वालिटी बना सके।

लेकिन यूजर को पता है की यह Image किसके बारे में है!

लेकिन सर्च इंजन को कैसे पता चलेगा के यह इमेज किस बारे में है?

इस चीज का सॉल्यूशन के लिए आप Image Alt Tag का इस्तेमाल करे। यह Image Alt Tag सर्च इंजन को बताया है की यह इमेज किसके बारे में है।

बाद में जब भी सर्च इंजन में कोई यूजर इस query को सर्च करेगा तो यह इमेज भी सर्च रिजल्ट में दिखाई देगी।

लेकिन आपको अपने इमेज को Compress करके ही इस्तेमाल करना चाहिए ताकि जल्द से आपकी इमेज लोड हो सके। इसके लिए आप Smush Plugin का इस्तेमाल कर सकते हैं। जो एक फ्री प्लगिन है।

(8). Internal Link कीजिए

Internal Link का मतलब है की अपने ब्लॉग में एक आर्टिकल को दूसरे आर्टिकल के साथ Internally Link करना

जैसे अभी तक आपने अपना आर्टिकल कंपलीट कर दिया है तो आपने अपने आर्टिकल में ऐसे कीवर्ड भी use किए होगे, जिस पर आपने पहले से आर्टिकल लिखा है और आपके इस आर्टिकल से रिलेटेड भी है। तो आपको दोनो को एक दूसरे से लिंक करना है।

जैसे इस आर्टिकल में मैंने ऊपर बात की थी कि कीवर्ड रिसर्च के बारे में

इससे पहले भी मैंने कीवर्ड रिसर्च के ऊपर एक अच्छा सा आर्टिकल लिखा है। तो मैं अब इस आर्टिकल को अपने उस कि कीवर्ड रिसर्च आर्टिकल से लिंक कर दूंगा।

इससे आपके ब्लॉग में engagement भी बढ़ता है। इस प्रकार के इंटरनल लिंकिंग की मदद से आपके यूजर एक पोस्ट से दूसरे पोस्ट को भी पढ़ पाएंगे। इससे आपका बाउंस रेट भी कंट्रोल में रहता है।

(9). Outbound Link करे

इंटरनल लिंकिंग के अलावा आपको दूसरी बड़ी जो अथॉरिटी वेबसाइट है, उन्हें भी लिंक करना चाहिए। जिसको हम Outbound Link कहते है।

जैसे की आपके एक अच्छा आर्टिकल लिखा है की Micro Niche Blog Kya Hai?

तो आप दूसरी बड़ी अथॉरिटी वेबसाइट से इसको लिंक कर सकते हैं।

इंटरनेट पर बहुत सारी बड़ी अथॉरिटी वेबसाइट है जैसे Wikipedia, Forbes, Facebook, Instagram, wikiHow जैसी हाई क्वालिटी वेबसाइट है। जिनसे आप लिंक कर सकते हैं।

गूगल के मुताबिक Internally Link के साथ साथ Outbound Link भी इम्पोर्टेंट है और गूगल इसे भी इंपोर्टेंस देता है।

(10). Blog URL

SEO Friendly Blog Post में URL भी बहुत इंपॉर्टेंट होता है। ब्लॉग के यूआरएल में आपको अपने टारगेट कीवर्ड को भी जरूर शामिल कीजिए।

आपके यूआरएल को हो सके तो short and simple बनाए। जैसे इस आर्टिकल का url मैने रखा है की,

InHindiHub.com/seo-friendly-blog-post-kaise-likhe/

तो मेरे हिसाब से यह एक बेस्ट उदाहरण है ब्लॉग यूआरएल के लिए। इस ब्लॉग url से आपका यूजर भी आसानी से समझ पाएगा।

(11). अच्छी Length का आर्टिकल बनाए

वैसे आर्टिकल की कोई ideal length तो नही है। गूगल ने भी कही पर भी नही बताया है की आपको अपने आर्टिकल को इतने word का बनाना चाहिए।

लेकिन आपको अपने आर्टिकल को indepth बनाना चाहिए। आपके यूजर को उस टॉपिक से जुड़ी सारी जानकारी मिल जाए, इस तरह से आर्टिकल को बनाना चाहिए।

एक रिसर्च में पाया की जो competitive keyword है उन पर ज्यादातर long form आर्टिकल ही अच्छा परफॉर्म करते है।

यदि आपकी वेबसाइट की अथॉरिटी नही है तो आपको अच्छे long form content ही बनाना चाहिए।

इसके अलावा आप स्टेप 1 को फॉलो कीजिए Research का

यही से आपको पता चल जाएगा कि आपको अपने आर्टिकल को कितना lengthy बनाना चाहिए।

(12). दूसरे लोग से आर्टिकल को read करवाए

दोस्त आर्टिकल को पब्लिश करने से पहले अपने पार्टनर या किसी और इंसान से आर्टिकल को read करवाए

या फिर 1 दिन बाद आप इस आर्टिकल को शांति से पढ़िए।

ताकि आप समझ पाएंगे कि आपको इस आर्टिकल में क्या चेंज करने हैं।

(13). Regular New Fresh Content शामिल कीजिए

गूगल अब फ्रेश कांटेक्ट को ज्यादा पसंद करता है। ऐसे में यदि आप का टॉपिक ऐसा है जो समय-समय पर अपडेट होता रहता है तो आपको अपने आर्टिकल को रेगुलर समय-समय पर अपडेट करना चाहिए।

आपको अपने आर्टिकल में Regular New Fresh Content शामिल करना चाहिए।

New Fresh Content में आप नई जानकारी, इमेजेस, वीडियो इत्यादि जैसी शामिल कर सकते हैं।

आज आपने क्या सीखा: Website के लिए SEO Friendly Blog Post कैसे लिखे?

तो दोस्त आज के इस आर्टिकल में आपने जाना की SEO Friendly Article होता क्या है? Website के लिए SEO Friendly Blog Post कैसे लिखे? जिसकी जानकारी हिंदी में दी थी। यदि आप एक Beginners है तो यह जानकारी आपके लिए बेस्ट है।

मुझे उम्मीद है कि आपको यह आर्टिकल हेल्पफुल लगा होगा। इस आर्टिकल को लेकर कोई सवाल है या कोई और जानकारी शामिल करवाना चाहते हैं तो नीचे दिए कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

जानकारी अच्छी लगी हो तो अपने सोशल मीडिया पर शेयर जरूर करें और InHindiHub को टैग जरूर करे।

Get Free Email Updates!

Signup now and receive an email once I publish new content.

I agree to have my personal information transfered to MailChimp ( more information )

I will never give away, trade or sell your email address. You can unsubscribe at any time.

क्या आप अपने ब्लॉग के लिए क्वालिटी HINDI CONTENT WRITER FIND कर रहे है?

अगर आप हमसे High quality, Impressive और SEO friendly आर्टिकल लिखवाना चाहते हो तो आप हमसे संपर्क कर सकते हो. ज्यादा जानकारी के लिए नीचे दिए गए whatsapp नंबर पे संपर्क करें.

हमारा whatsapp नंबर है : 7984614632

Checkout Our Services: Click Here

Share Your Thought