On Page SEO Ranking Factor

On-Page SEO Factors : Top 10 Most Important On-Page SEO Factors In Hindi जो आपको जानने चाहिए!

क्या आप भी अपने वेबसाइट का ON-PAGE SEO कर रहे हैं?

लेकिन अच्छे रिजल्ट नही मिल रहे है?

तो आज का यह आर्टिकल आपके लिए है। आज के इस आर्टिकल में मैंने Top 10 Most Important On-Page SEO Factors In Hindi की जानकारी शेयर कि है।

जो आपके On-Page SEO की स्ट्रेटजी बनाते समय ध्यान रखना जरूरी है। 

आइए जानते है On-page SEO रैंकिंग फैक्टर के बारे में….

What Is On-Page SEO In Hindi?

On-Page SEO जिसको हम On-Site SEO के नाम से भी जानते है। वेबसाइट की सर्च इंजन रैंकिंग को सुधारने के लिए जो एक्टिविटी हम हमारी वेबसाइट पर करते है उसको हम On-Page SEO कहते है।

On-Page SEO में हम वेब पेज के हेडलाइन, टाइटल टैग, मेटा टैग, इमेज को सर्च इंजन के मुताबिक ऑप्टिमाइज़ करते है। जिससे हमारी वेबसाइट सर्च इंजन में अच्छे पोजिशन पर रैंक हो सके।

On-Page SEO Important क्यों है?

On-Page SEO आज के समय में सबसे ज्यादा इंपॉर्टेंट है?

Yes जी हां,

गूगल ने भी अपनी एक पोस्ट में बताया था  कि SEO रैंकिंग फैक्टर में ON-PAGE SEO MOST इंपॉर्टेंट पार्ट है। 

 आज गूगल आपके On-Page वेबसाइट के कंटेंट को देखकर ही आपकी वेबसाइट को अच्छी पोजिशन पर रैंक देता है।

गूगल आज रैंकिंग में यूजर की query के अनुसार रैंकिंग देता है और इसके लिए आपकी वेबसाइट के कंटेंट की relevancy को भी देखता है।

Top 10 Most Important On-Page SEO Factors In Hindi

(1). EAT

सबसे पहले EAT को स्मजते है कि यह क्या है?

E: Expertise

A: Authority

T: Trustworthiness

आज गूगल आपके कंटेंट की Expertise को देखता है बाद में आपकी वेबसाइट कि अथॉरिटी और आखिर में क्या यह Trustworthiness है? गूगल इसी फॉर्मूला पर रैंकिंग देता है।

गूगल हमेशा अपने यूजर को अच्छे और high quality रिजल्ट को सबसे पहले दिखात है।

इसके लिए आपको यही कोशिश करनी है कि आप हमेशा अपने वेबसाइट के लिए अच्छे और high quality कंटेंट बनाए और इसके बदले में गूगल आपको अच्छी रैंकिंग देगा।

यदि आपके वेबसाइट कि क्वालिटी बेहतर नहीं है तो आपकी रैंकिंग को नीचे दिखाएगा।

तो जब भी आप अपने वेबसाइट के लिए On-Page SEO की स्ट्रेटिजी बनाए तो इसमें EAT फैक्टर को जरूर ध्यान में रखे।

(2). Title Tag

आपके वेबसाइट में title tag भी seo के लिहाज से बहुत ज्यादा जरूरी है। ये आपके कंटेंट में सबसे ऊपरी भाग में होता है और इसी से क्रॉलर को समझ आता है कि आपकी वेबसाइट में कंटेंट किस प्रकार और किस टॉपिक पर है।

जब भी आप कंटेंट बनाए तो उसमे टाइटल टैग को भी अच्छे से ऑप्टिमाइज्ड करे। क्योंकि मिसिंग, गलत और खराब टाइटल टैग आपके वेबसाइट के on-page seo में negative effect डालता है।

(3). Meta Description

Meta Description यानी कि मेटा टैग पेज में रहे कंटेंट के बारे में बताता है। मेटा टैग सर्च रिजल्ट में हेडिंग के नीचे कुछ show किया जाता है।

मेटा टैग की मदद से आसानी से पता चलता है कि इस पेज में किस प्रकार का कंटेंट मिलता है। वैसे गूगल में मेटा टैग की वजह से रैंकिंग में मदद मिलती है इस बात का कहीं पर जिक्र तो नहीं किया है।

लेकिन एक बात यह भी सच है कि यदि मेटा टैग को अच्छे से ऑप्टिमाइज्ड किया जाए तो इसका असर भी दिखाई देता है।

(4). हेडलाइन

यदि आप चाहते है कि आपका कंटेंट सर्च में अच्छे से परफॉर्म करे? लोग आपके कंटेंट पर ज्यादा क्लिक करे?

तो इसके लिए आप Attractive Headlines लिखनी होगी।

जैसा कि आपको उपर भी बताया कि सर्च रिजल्ट में आपकी हेडलाइन सबसे पहले यूजर को दिखाई देती है।

ऐसे में आपको अपने हेडलाइन को भी अच्छे से ऑप्टिमाइज्ड किया होना जरूरी है।

जितने ज्यादा आपके कंटेंट पर क्लिक होगे वैसे गूगल को सिग्नल मिलता है कि यह एक अच्छा कंटेंट है!

जिससे वो आपके कंटेंट को अच्छे पोजिशन पर रैंक करवाता है।

(5). Header Tag

Header Tag यानि कि H1 से लेकर के H6 तक के html टैग है। Header टैग आपके कंटेंट में हेडिंग, सब हेडिंग देता है जिसकी मदद से आपके कंटेंट को अच्छे से ऑर्गनाइज किया जाता है।

हेडर टैग की मदद से आपके यूजर आपके कंटेंट को आसानी से पढ़ सकते है और यह SEO के लिए भी अच्छा है।

हेडर टैग की मदद से आपका कंटेंट अच्छे से ऑर्गनाइज होता है। जिससे आपके यूजर आसानी से पढ़ सकते हैं।

इसके अलावा आप अपने हेडर टैग में अपने कीवर्ड को भी एड कर सकते है।

(6).  SEO राइटिंग

आज के इस कंपटीशन में seo writing का मतलब नहीं है के सिर्फ गूगल में रैंक करवाने के लिए कंटेंट को लिखना।

बल्कि आपको अपने आर्टिकल को यूजर के इंटेंट को पूरा करने के लिए लिखना है और इसको ऑप्टिमाइज्ड करना है इसे SEO राइटिंग कहते है।

आपके आर्टिकल में अच्छी क्वालिटी और relevancy भी होनी चाहिए।

(7). Keyword Cannibalization

किसी एक कीवर्ड पर एक से ज्यादा पेज बनाकर टारगेट करना जिसे Keyword Cannibalization कहते है।

Keyword Cannibalization करने से आप अपने लिए ही कॉम्पटीशन बढ़ा देते है। जिससे आपको वेबसाइट का on-page से थोड़ा hard हो जाता है।

इसलिए ध्यान रखे कि आपको अपनी वेबसाइट में किसी एक कीवर्ड पर एक। से ज्यादा पेज बनाकर टारगेट ना करे।

(8). कंटेंट ऑडिट

शुरुआती दिनों में मै भी यही गलती करता था और आज ज्यादातर लोग यही गलती करते है, वे सिर्फ नए कंटेंट को बनाने पर फोकस रखते है।

लेकिन अपने कंटेंट को ऑडिट नहीं करते है।

आपको अपने कंटेंट को ऑडिट करना चाहिए जिससे आपको पता चल सके कि

कौन सा कंटेंट आपके लक्ष्य को पूरा कर रहा है साथ है साथ कितना ROI भी रिटर्न दे रहा है।

किस प्रकार कंटेंट आपके लिए काम करता है।

कंटेंट ऑडिट करने से आपको seo स्ट्रेटजी बनाने के लिए हेल्प करता है और कंटेंट ऑडिट आपको रेगुलर करना चाहिए।

(9). Image Optimization

1 इमेज आपके 1000 के बराबर है और कंटेंट में इमेज एड करने से आपके यूजर बिना boring हुए आपको कंटेंट को पढ़ते है।

सिर्फ इमेज एड करने से seo में ज्यादा हेल्प नहीं मिलती है लेकिन आपको उस इमेज को अच्छे से ऑप्टिमाइज्ड भी करना जरूरी है।

इमेज को ऑप्टिमाइज़ करने से आपकी रैंकिंग गूगल में अच्छी बनती है साथ ही साथ आपके यूजर आपके कंटेंट से जुड़े रहने में भी मदद करता है।

(10). User Engagement

सिर्फ वेबसाइट का on-page seo करना ही काफी नहीं है। यदि आपका यूजर आपके वेबसाइट पर आने के बाद आपका कंटेंट उस Engagement नहीं बना पाते है और आपके यूजर कम समय में वापस चला जाता है तो आपका बाउंस रेट भी बढ़ता है।

गूगल आपके on-page seo में user engagement में सिर्फ बाउंस रेट ही नहीं बल्कि आपका यूजर वापस आपकी साइट पर आता है या नही ये भी नोटिस करता है।

User Engagement अच्छे से बनाने के लिए आप अपनी साइट की स्पीड और आपके कंटेंट को अच्छा इंटरेस्टिंग बना सकते है।

Final Conclusion On On-Page SEO Factors

आज के इस आर्टिकल में आपने जाना On-Page SEO के लिए Most Important On-Page SEO Factors जो आपकी वेबसाइट के seo करते समय आपकी मदद कर सकता है।

आइए आर्टिकल से जुड़े कोई सवाल है तो आप नीचे कॉमेंट बॉक्स में जरूर बताए और आर्टिकल अच्छा लगा हो तो नए ब्लॉगर के साथ जरूर शेयर करे।

Get Free Email Updates!

Signup now and receive an email once I publish new content.

I agree to have my personal information transfered to MailChimp ( more information )

I will never give away, trade or sell your email address. You can unsubscribe at any time.

Leave a Reply

Share via
Copy link
Powered by Social Snap